Republic-Day-Speech

Republic Day Speech in Hindi & English गणतंत्र दिवस पर भाषण

Republic Day Speech: Hello friends are you looking for Republic Day Speech in Hindi & English for Students, Teacher & Kids 2020. Here you find all types of Republic Day Speech in Hindi & English. In 2020 India Celebrates the 71st Republic Day. Sometimes we looking for best Republic Day Speech but we don’t find so now we provide you Best and New Republic Day Speech in Hindi & English for Students, Teacher & Kids 2020.

Republic Day is the biggest festival in India and every Indian is celebrating this festival.

रिपब्लिक डे स्पीच (गणतंत्र दिवस भाषण): हेलो दोस्तों क्या आप हिंदी में गणतंत्र दिवस भाषण 2020 की तलाश कर रहे हैं। यहां आपको सभी प्रकार के रिपब्लिक डे स्पीच हिंदी में मिलेंगे। 2020 में भारत 71 वां गणतंत्र दिवस मनायेगा। यहां आपको छात्रों, शिक्षक और बच्चों के लिए हिंदी में सर्वश्रेष्ठ और नया गणतंत्र दिवस भाषण प्रदान करेंगे हैं।

Republic Day Speech in English

1. Republic Day Speech

The Honorable chief guest of the day, respected principal, teachers, parents and my all dear friends. This time we are celebrating the 70th Republic day of India that is why we are gathered here. Today I am going to speak a few words about republic clay which is a very special day for all Indian citizens and wish to all of you a very happy republic day.

India celebrates the Republic Day every year on the 26th of January from 1950 because on this day India was declared as the republic country as well as the constitution of India came into force after the independence of long years of struggle. India got independence on 15th of August in 1947 and two and half years later it became the Democratic Republic. Republic day in India has great importance in history as it tells us all about each and every struggle of Indian freedom fighters.

Republic means the supreme power of the people living in the country and only public has rights to elect their representatives as a political leader to lead the country in right direction So, India is a Republic country after 26th of January 1950, where the public elects its leaders as a president, prime minister, etc. Our Great Indian freedom fighters have struggled a lot to the “Puma Swam?’ in India. We can never forget their sacrifices for our country. They did so that their future generations may live without struggle and led the country ahead. We should remember them on such great occasions and salute them. It has become possible just because of them that we can think from our own mind and live freely in our nation without anyone’s force.

There is also a big exhibition of the Indian culture and tradition takes place by the different Indian states to show the ‘Unity in diversity‘ in India.

Before ending this speech I’d like to thank you all for giving me a chance to express my feelings about republic day and I am proud to be an Indian where we have all types of independence.

Republic Day Speech in English for Teacher & Students

2. Republic Day Speech

On the event of Republic Day, the flag hoisting, various cultural activities, and others will take place everywhere across India. Especially in schools and colleges, Republic Day Celebrations will be held grandly. Where the teachers and students are going to render some valuable speeches, which are thought-provoking.

Republic Day speeches generally include much valuable information such as sacrifices of our leaders for the sake of independence, their efforts to make the country to set free from the Britishers, empowerment of the country, aspects related to the education and growth, women empowerment, economic development, poverty abolishment, and various other issues. Giving the Republic Day speech is giving the perfect motivation for various things.

Freedom fighters like Mahatma Gandhi, Sardar Vallbhai Patel, Bhagat Singh, and others strived hard to get the freedom to India. Their collective efforts have made India as a democratic country today. In this country of democrats’ people are having the freedom to express their views about the country, development and other things.

Republic Day Speech in Hindi (गणतंत्र दिवस पर भाषण)

3. Republic Day Speech

मैं अपने आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षिका, और मेरे सभी सहपाठियों को सुबह का नमस्कार कहना चाहूंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम सभी यहाँ अपने राष्ट्र का 69वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिये एकत्रित हुए हैं। ये हम सभी के लिये बेहद शुभ अवसर है। 1950 से, हम गणतंत्र दिवस को हर वर्ष ढ़ेर सारे हर्ष और खुशी के साथ मनाते हैं। उत्सव की शुरुआत के पहले, हमारे मुख्य अतिथि देश के राष्ट्रीय ध्वज़ को फहराते हैं। इसके बाद हम सभी खड़े होते हैं और राष्ट्र-गान गाते हैं जो कि भारत की एकता और शांति का प्रतीक है। हमारा राष्ट्र-गान महान कवि रबीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया है। हमारे राष्ट्रीय ध्वज़ में तीन रंग और 24 बराबर तीलियों के साथ मध्य में एक चक्र है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज़ के सभी तीन रंगों का अपना अर्थ है। सबसे ऊपर का केसरिया रंग हमारे देश की मजबूती और हिम्मत को दिखाता है। मध्य का सफेद रंग शांति को प्रदर्शित करता है जबकि सबसे नीचे का हरा रंग वृद्धि और समृद्धि को इंगित करता है। ध्वज़ के मध्य में 24 बराबर तीलियों वाला एक नेवी नीले रंग का चक्र है जो महान राजा अशोक के धर्म चक्र को प्रदर्शित करता है। हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि 1950 में ही इस दिन भारतीय संविधान अस्तित्व में आया था। गणतंत्र दिवस उत्सव में, इंडिया गेट के सामने नयी दिल्ली में राजपथ़ पर भारत की सरकार द्वारा एक बड़ा आयोजन किया जाता है। हर साल, इस उत्सव की चमक को बढ़ाने के साथ ही “अतिथि देवो भव:” के कथन के उद्देश्य को पूरा करने के लिये एक मुख्य अतिथि (देश के प्रधानमंत्री) को बुलाया जाता है। भारतीय सेना इस अवसर पर परेड के साथ ही राष्ट्रीय ध्वज़ को सलामी देती है। भारत में विविधता में एकता को प्रदर्शित करने के लिये अलग-अलग राज्यों के द्वारा भारतीय संस्कृति और परंपरा की एक बड़ी प्रदर्शनी भी दिखायी जाती है।

Republic Day Speech (26 जनवरी गणतंत्र दिवस भाषण)

4. Republic Day Speech

माननीय प्रधानाचार्य, अध्यापक, अध्यापिकाएं, मेरे सहपाठियों को सुबह की नमस्ते। मेरा नांम…….। मैं कक्षा…….में पढ़ता/पढ़ती हूँ। मैं आपके सामने गणतंत्र दिवस पर भाषण दे रहा/रही हूँ। मैं अपने कक्षा अध्यापक की बहुत आभारी हूँ कि उन्होंने मुझे गणतंत्र दिवस के इस महान अवसर पर अपने विचार रखने का मौका दिया। मेरे प्यारे मित्रों, हम इस राष्ट्रीय उत्सव को हर साल संविधान निर्माण की याद और इसके सम्मान में मनाया जाता है। ये सभी स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षक और विद्यार्थियों द्वारा मनाया जाता है, हांलाकि, पूरे देश के सभी राज्यों के सरकारी कार्यालयों और अन्य संस्थानों में भी मनाया जाता है। मुख्य कार्यक्रम, भारत के राष्ट्रपति और दूसरे देश के आमंत्रित मुख्य अतिथि के सामने राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली, राजपथ, इंडिया गेट पर होता है। एक भव्य समारोह परेड भारत के लिये अपनी कृतज्ञता प्रदर्शित करने के लिये राजपथ पर आयोजित की जाती है। इस दिन पर, भारत का संविधान 1950 में अस्तित्व में आया था, हांलाकि, इसे संविधान सभा के द्वारा 26 नवम्बर 1949 को ग्रहण किया गया था। 26 जनवरी को, 1930 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के द्वारा भारत को पूर्ण स्वराज्य घोषित किया गया था यही कारण है कि 26 जनवरी को ही भारत के संविधान को लागू करने के लिये चुना गया। इसके क्रियाशील होने के बाद, भारतीय संघ, आधिकारिक रुप से इसी समय से भारत गणतंत्र राज्य हो गया जिसने भारतीय सरकार अधिनियम 1935 को मौलिक सरकार कागजातो से प्रतिस्थापित कर दिया। हमारा देश संविधान के द्वारा समप्रभु, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणतंत्र घोषित कर दिया गया। हमारा संविधान भारत के नागरिकों के बीच न्याय, स्वतंत्रता और सम्मान को सुनिश्चित करता है। हमारे संविधान का प्रारुप संविधानिक सभा (389 सदस्य) द्वारा बनाया गया था। इसके निर्माण में लगभग तीन साल (वास्तव में, 2 साल, 11 महीने और 18 दिन) लगे थे। संविधान सभा के द्वारा 1947 में, 29 अगस्त को, डॉ. भीम राव अम्बेडकर की अध्यक्षता में प्रारुप समिति का निर्माण किया था। प्रारुप समिति के मुख्य सदस्य डॉ.भीम राव अम्बेडकर, जवाहर लाल नेहरु, गणेश वासुदेव मालवांकर, सी.राजगोपालचार्य जी, संजय पाखे, बलवंत राय मेहता, सरदार वल्लभभाई पटेल, कैन्हया लाल मुंशी, राजेन्द्र प्रसाद, मौलाना अब्दुल कलाम आजाद, नालिनी रजन घोष, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और संदीप कुमार पटेल थे। प्रारुप समिति के सभी सदस्यों में से लगभग 30 से ज्यादा सदस्य अनुसूचित जाति से थे। समिति की कुछ महत्वपूर्ण महिलाएं सरोजनी नायडू, राजकुमारी अमृत कौर, दुर्गा देवी देशमुख, हंसा मेहता और विजय लक्ष्मी पंड़ित थी। भारत का संविधान नागरिकों को खुद की सरकार चुनने के लिये अधिकार देता है। भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी, हांलाकि, संविधान को ग्रहण करने के बाद ये सम्प्रभु, लोकतांत्रिक और गणतंत्र बना था। राष्ट्रीय राजधानी में, राष्ट्रीय तिरंगे को 21 तोपो की सलामी दी जाती है और इसके बाद राष्ट्रीयगान जन-गण-मन गाया जाता है। भारत के राष्ट्रपति और मुख्य अतिथि के सामने भारतीय सेना के द्वारा आयोजित की जाती है। स्कूल के बच्चे भी परेड में भाग लेकर नृत्य और गाने के माध्यम से अपनी कलात्मकता को प्रदर्शित करते हैं। भारत की विविधता में एकता दिखाने के लिये ये राजपथ पर राज्यों के अनुसार झांकियों को शामिल करता है। धन्यवाद, जय हिन्द!

Searches related to republic day speech in hindi & english

  • Republic Day Speech in Hindi
  • Republic Day Speech in Hindi 2020
  • 71st Republic Day Speech in Hindi
  • 26 January Speech in Hindi 2020
  • Republic Day Speech
  • Republic Day Speech in English
  • Republic Day Speech in English for Teacher
  • Republic Day Speech in English for Students
  • Republic Day Speech in English for Kids
  • 71st Republic Day Speech in English
  • 26 January Speech in English 2020

Check Also this post:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close