Republic-Day-Speech-Hindi

Republic Day Speech in Hindi गणतंत्र दिवस पर भाषण (2021)

Advertisement

Republic Day Speech: Hello friends are you looking for Republic Day Speech in Hindi for Students, Teacher & Kids 2021. Here you find all types of Republic Day Speech in Hindi. In 2021 India Celebrates the 72th Republic Day. Sometimes we find the best Republic Day Speech but we don’t find so now we provide you Best and New Republic Day Speech in Hindi for Students, Teacher & Kids 2021.

रिपब्लिक डे स्पीच (गणतंत्र दिवस भाषण): हेलो दोस्तों क्या आप हिंदी में गणतंत्र दिवस भाषण 2021 की तलाश कर रहे हैं। यहां आपको सभी प्रकार के रिपब्लिक डे स्पीच हिंदी में मिलेंगे। 2021 में भारत 71 वां गणतंत्र दिवस मनायेगा। यहां आपको छात्रों, शिक्षक और बच्चों के लिए हिंदी में सर्वश्रेष्ठ और नया गणतंत्र दिवस भाषण प्रदान करेंगे।

Advertisement

Republic Day Speech in Hindi PDF File – Click Here

Republic Day Speech in Hindi for Students

1. Republic Day Speech in Hindi

मैं अपने आदरणीय प्रधानाध्यापक, शिक्षक, शिक्षिका, और मेरे सभी सहपाठियों को सुबह का नमस्कार कहना चाहूंगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हम सभी यहाँ अपने राष्ट्र का 69वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिये एकत्रित हुए हैं। ये हम सभी के लिये बेहद शुभ अवसर है। 1950 से, हम गणतंत्र दिवस को हर वर्ष ढ़ेर सारे हर्ष और खुशी के साथ मनाते हैं। उत्सव की शुरुआत के पहले, हमारे मुख्य अतिथि देश के राष्ट्रीय ध्वज़ को फहराते हैं। इसके बाद हम सभी खड़े होते हैं और राष्ट्र-गान गाते हैं जो कि भारत की एकता और शांति का प्रतीक है। हमारा राष्ट्र-गान महान कवि रबीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया है। हमारे राष्ट्रीय ध्वज़ में तीन रंग और 24 बराबर तीलियों के साथ मध्य में एक चक्र है। भारतीय राष्ट्रीय ध्वज़ के सभी तीन रंगों का अपना अर्थ है। सबसे ऊपर का केसरिया रंग हमारे देश की मजबूती और हिम्मत को दिखाता है। मध्य का सफेद रंग शांति को प्रदर्शित करता है जबकि सबसे नीचे का हरा रंग वृद्धि और समृद्धि को इंगित करता है। ध्वज़ के मध्य में 24 बराबर तीलियों वाला एक नेवी नीले रंग का चक्र है जो महान राजा अशोक के धर्म चक्र को प्रदर्शित करता है। हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाते हैं क्योंकि 1950 में ही इस दिन भारतीय संविधान अस्तित्व में आया था। गणतंत्र दिवस उत्सव में, इंडिया गेट के सामने नयी दिल्ली में राजपथ़ पर भारत की सरकार द्वारा एक बड़ा आयोजन किया जाता है। हर साल, इस उत्सव की चमक को बढ़ाने के साथ ही “अतिथि देवो भव:” के कथन के उद्देश्य को पूरा करने के लिये एक मुख्य अतिथि (देश के प्रधानमंत्री) को बुलाया जाता है। भारतीय सेना इस अवसर पर परेड के साथ ही राष्ट्रीय ध्वज़ को सलामी देती है। भारत में विविधता में एकता को प्रदर्शित करने के लिये अलग-अलग राज्यों के द्वारा भारतीय संस्कृति और परंपरा की एक बड़ी प्रदर्शनी भी दिखायी जाती है।

Republic Day Speech in Hindi for Students & Kids

2. Republic Day Speech in Hindi

माननीय प्रधानाचार्य, अध्यापक, अध्यापिकाएं, मेरे सहपाठियों को सुबह की नमस्ते। मेरा नांम…….। मैं कक्षा…….में पढ़ता/पढ़ती हूँ। मैं आपके सामने गणतंत्र दिवस पर भाषण दे रहा/रही हूँ। मैं अपने कक्षा अध्यापक की बहुत आभारी हूँ कि उन्होंने मुझे गणतंत्र दिवस के इस महान अवसर पर अपने विचार रखने का मौका दिया। मेरे प्यारे मित्रों, हम इस राष्ट्रीय उत्सव को हर साल संविधान निर्माण की याद और इसके सम्मान में मनाया जाता है। ये सभी स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षक और विद्यार्थियों द्वारा मनाया जाता है, हांलाकि, पूरे देश के सभी राज्यों के सरकारी कार्यालयों और अन्य संस्थानों में भी मनाया जाता है। मुख्य कार्यक्रम, भारत के राष्ट्रपति और दूसरे देश के आमंत्रित मुख्य अतिथि के सामने राष्ट्रीय राजधानी, नई दिल्ली, राजपथ, इंडिया गेट पर होता है। एक भव्य समारोह परेड भारत के लिये अपनी कृतज्ञता प्रदर्शित करने के लिये राजपथ पर आयोजित की जाती है। इस दिन पर, भारत का संविधान 1950 में अस्तित्व में आया था, हांलाकि, इसे संविधान सभा के द्वारा 26 नवम्बर 1949 को ग्रहण किया गया था। 26 जनवरी को, 1930 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के द्वारा भारत को पूर्ण स्वराज्य घोषित किया गया था यही कारण है कि 26 जनवरी को ही भारत के संविधान को लागू करने के लिये चुना गया। इसके क्रियाशील होने के बाद, भारतीय संघ, आधिकारिक रुप से इसी समय से भारत गणतंत्र राज्य हो गया जिसने भारतीय सरकार अधिनियम 1935 को मौलिक सरकार कागजातो से प्रतिस्थापित कर दिया। हमारा देश संविधान के द्वारा समप्रभु, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी और लोकतांत्रिक गणतंत्र घोषित कर दिया गया। हमारा संविधान भारत के नागरिकों के बीच न्याय, स्वतंत्रता और सम्मान को सुनिश्चित करता है। हमारे संविधान का प्रारुप संविधानिक सभा (389 सदस्य) द्वारा बनाया गया था। इसके निर्माण में लगभग तीन साल (वास्तव में, 2 साल, 11 महीने और 18 दिन) लगे थे। संविधान सभा के द्वारा 1947 में, 29 अगस्त को, डॉ. भीम राव अम्बेडकर की अध्यक्षता में प्रारुप समिति का निर्माण किया था। प्रारुप समिति के मुख्य सदस्य डॉ.भीम राव अम्बेडकर, जवाहर लाल नेहरु, गणेश वासुदेव मालवांकर, सी.राजगोपालचार्य जी, संजय पाखे, बलवंत राय मेहता, सरदार वल्लभभाई पटेल, कैन्हया लाल मुंशी, राजेन्द्र प्रसाद, मौलाना अब्टुस कलाम आजाद, नालिनी रजन घोष, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और संदीप कुमार पटेल थे। प्रारुप समिति के सभी सदस्यों में से लगभग 30 से ज्यादा सदस्य अनुसूचित जाति से थे। समिति की कुछ महत्वपूर्ण महिलाएं सरोजनी नायडू, राजकुमारी अमृत कौर, दुर्गा देवी देशमुख, हंसा मेहता और विजय लक्ष्मी पंड़ित थी। भारत का संविधान नागरिकों को खुद की सरकार चुनने के लिये अधिकार देता है। भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी, हांलाकि, संविधान को ग्रहण करने के बाद ये सम्प्रभु, लोकतांत्रिक और गणतंत्र बना था। राष्ट्रीय राजधानी में, राष्ट्रीय तिरंगे को 21 तोपो की सलामी दी जाती है और इसके बाद राष्ट्रीयगान जन-गण-मन गाया जाता है। भारत के राष्ट्रपति और मुख्य अतिथि के सामने भारतीय सेना के द्वारा आयोजित की जाती है। स्कूल के बच्चे भी परेड में भाग लेकर नृत्य और गाने के माध्यम से अपनी कलात्मकता को प्रदर्शित करते हैं। भारत की विविधता में एकता दिखाने के लिये ये राजपथ पर राज्यों के अनुसार झांकियों को शामिल करता है। धन्यवाद, जय हिन्द!

Republic-Day-Speech-Hindi-pdf

Republic Day Speech in Hindi for Teachers

3. Republic Day Speech in Hindi

26 January का दिन भारतीय लोगों के लिए बहुत ही महत्व पुराण है. इस दिन को हम लोग एक त्यौहार की तरह मानते हैं, और यह त्यौहार ऐसा होता है जिस दिन हर धर्म के लोग मिलजुल कर इसे एक साथ मनाते हैं फिर चाहे बह हिन्दू हो या फिर मुस्लिम इस दिन हर धर्म के लोग एक साथ हो जाते हैं.

आज में 26 January के इस पावन अवसर पर आप लोगों का हार्दिक अभिनन्दन करता/करती हूँ. आज हम सभी लोग यहाँ पर गणतंत्र दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं.

इस वर्ष हम 70 वाँ गणतंत्र दिवस मना रहे हैं, भारत में कानून का राज्य स्थापित करने के लिए भारतीय संविधान सभा ने 1949 में इसे अपनाया था और 26 जनवरी 1950 में इसे लागू करके भारत एक लोकतांत्रिक देश बन गया था. हमारे देश के पहले प्रधान मंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू जी की अध्यक्षता में साल 1929 को लाहौर अधिवेशन में हमने पहली बार 26 Jan uaryको मनाया था, और उस दिन के बाद अब हर साल हम इसे अपने गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं.

गणतंत्र का अर्थ है देश के सभी लोगों के लिए एक सामान क़ानून व्यवस्था स्थापित करना. हमारे देश में सभी धर्मों के लोगों को सामान अधिकार दिए गए हैं. 26 January का दिन हमारे देश में बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है. इस दिन हमारे देश के राष्ट्रपति भारतीय ध्वज को फहराते हैं, उनके अलावा देश  के प्रधान मंत्री और अन्य नेता भी देश के लोगों को संबोधित करते हैं. इसके अलावा स्कूलों में भी इस दिन काफी रंगारंग कार्यक्रम होते हैं और स्कूली बच्चे इस दिन को बड़ी ही धूम-धाम के साथ मनाते हैं. 

26 January 1950 को लॉर्ड माउंटबेटन को हटाकर डॉ राजेंद्र प्रसाद को हमारे देश का पहला राष्ट्रपति बनाया गया था. इसी दिन हमारे देश के राष्ट्रपति की शाही सवारी निकलती है, जल सेना, थल सेना और वायु सेना की टुकड़ी यहाँ मार्च करती है और लाल क़िले पहुंचती है. इसी दिन कई तरह की झांकियां भी निकाली जाती हैं जोकि इंडिया गेट से चल कर लाल क़िले तक जाती हैं. इस दिन दिल्ली में तरह-तरह की आतिश बाजियां होती हैं और इसके अलावा इस दिन राष्ट्रपति भवन को बहुत ही अच्छी तरह से सजाया जाता है. दरअसल इस दिन राष्ट्रपति भवन किसी दुल्हन से कम नहीं लगता. 

डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, वल्लभ भाई पटेल, डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, मौलाना अबुल कलाम आज़ाद और पंडित जवाहरलाल नेहरू को संविधान सभा का सदस्य बनाया गया था. जिन्होंने मिल कर हमारे देश के संबिधान को बनाया जिसके अनुसार हमारे देश में सभी धर्मों के लोग अपनी इच्छा अनुसार किसी भी धर्म को मान सकते हैं पूजा कर सकते हैं और अपनी मर्ज़ी से किसी भी धर्म को मान सकते हैं. और इसके ऊपर कोई भी उन्हें रोक नहीं सकता और ना ही किसी धर्म को मानने के लिए विवश कर सकता है.

26 January का प्रोग्राम दिल्ली में India Gate में मनाया जाता है. यहाँ पर कई तरह की झांकियां निकाली जाती हैं जोकि राष्ट्रपति भवन तक जाती हैं. जिन्हें देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं, इसके अलावा जब राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है तो सब लोग उसके सम्मान में खड़े होते हैं और फिर राष्ट्रीय गान भी गाय जाता है. जिसके बाद हमारे देश के प्रधान मंत्री “अमर जवान ज्योति” के ऊपर फूल चढ़ा कर जो लोग देश के लिए शहीद हुए होते हैं उनका सामान करते हैं. 

हमारे देश को आज़ाद करवाने के लिए कई लोगों ने योगदान दिया है और उसी योगदान को याद रखते हुए हम 2 मिनट का में रखते हैं. इस दिन हमारे देश में दूसरे देशों से भी कई मेहमान आते हैं.

Republic-Day-Speech-hindi-2020

Searches related to republic day speech in hindi

  • Republic Day Speech in Hindi
  • Republic Day Speech in Hindi 2021
  • 71st Republic Day Speech in Hindi
  • 26 January Speech in Hindi
  • 26 January Speech in Hindi 2021
  • Independence Day Speech in Hindi

Check Also this post:

Leave a Reply